blogid : 532 postid : 234

कारबो लोडबो जीतबो रे, जीत गए

Posted On: 28 May, 2012 sports mail में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

IPL BLOG IN HINDI

“पांच सीजन में नहीं तो कभी नहीं” शाहरुख खान के यह शब्द शायद उनकी टीम कोलकाता नाइटराइडर्स के लिए एक बुस्टर की तरह काम कर गए और टीम ने वह कर दिखाया जो वह पिछले पांच साल में करने में नाकाम रही थी. आईपीएल 5 की ट्राफी इस बार केकेआर के खिलाड़ियों ने हासिल कर शाहरुख खान की सारी मुरादें पूरी कर दी हैं. चेन्नई सुपरकिंग्स जिन्हें अगर किस्मत का किंग कहा जाए तो गलत नहीं होगा, उन्हें हराकर कोलकाता नाइटराइडर्स ने अपने विजय रथ को आईपीएल की ट्राफी पर ले जाकर खत्म किया.


आईपीएल 5 के फाइनल में चेन्नई सुपरकिंग्स का सामना हुआ कोलकाता नाइटराइडर्स से. एक तरफ थी महेन्द्र सिंह धोनी की अगुवाई में दो बार की चैंपियन टीम और दूसरी तरफ थी गौतम की गंभीर सेना जिसने इस पूरी श्रृंखला में अपने कप्तान को बेहतरीन खेल दिखाया है. फाइनल मैच में चेन्नई सुपरकिंग्स ने पहले बल्लेबाजी करते हुए बीस ओवर में सुरेश रैना के 73 रन और माइक हसी के 54 रनों की मदद से 190 रन बनाए. चेन्नई की बल्लेबाजी की शान रहे रैना जिन्होंने अंतिम ओवरों में धमाकेदार बल्लेबाजी करते हुए 37 गेंदों में तीन चौके व पांच जोरदार छक्के भी जड़े. जवाब में कोलकाता ने खराब शुरुआत के बाद बिसला और कालिस के अर्धशतकों के दम पर 19.4 ओवर में पांच विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया. मैच के हीरो रहे बिसला ने अपने दम पर टीम की जीत की नींव रखी और 48 गेंदों में आठ चौका व पांच छक्का जमाया.


मैन ऑफ द मैच बिसला

मानविंदर बिस्ला ने 48 गेंदों में आठ चौकों व पांच छक्कों की मदद से 89 रन बनाए. यह उनका आईपीएल में सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर था. बिसला ने ना सिर्फ ताबड़तोड़  रन बनाए बल्कि एक छोर संभालते हुए कालिस का बढ़िया साथ दिया. कालिस और बिसला की साझेदारी मैच के लिए अहम साबित हुई.


गंभीर का टोटका

जीत के लिए खिलाडि़यों के तरह-तरह के अंधविश्वास किसी से छिपे नहीं हैं और केकेआर की जीत में इसकी एक और बानगी कोलकाता नाइटराइडर्स के कप्तान गौतम गंभीर ने पेश की.  आईपीएल फाइनल के दौरान आउट होने पर भी मैच के आखिर तक वह पैड बांधकर बैठे रहे. इस बारे में गौतम गंभीर ने कहा कि टूर्नामेंट में सिर्फ एक बार आउट होने के बाद मैंने पैड खोले थे और किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ उस मैच में आखिरी 12 गेंद में हम 13 रन नहीं बना सके. और इसी डर से कि कहीं आज भी फिर उस दिन की हार ना मिल जाए इसलिए गंभीर ने पैड उतारे ही नहीं और उनकी टीम ने मैच जीत लिया.





Tags:

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran